Sunday, January 10, 2010

कैंची से दोस्ती करेंगे आईटीआई के छात्र

आईटीआई के छात्र कई तरह के औजारों के साथ दोस्ती निभाते रहे हैं, लेकिन इस बार उनकी दोस्ती ऐसे औजार के साथ होगी, जो उन्हें नाम, शोहरत और पैसा तीनों उपलब्ध करा सकेगा। तकनीकी निदेशालय राजधानी की सभी आईटीआई में हेयर ड्रेसिंग का कोर्स शुरू करने जा रहा है। उनको नामी-गिरामी हेयर स्टाइलिस्टों के यहां ट्रेनिंग भी उपलब्ध कराई जाएगी। अब आईटीआई के तकनीकी विशेषज्ञ ही नहीं निकलेंगे, बल्कि नामी गिरामी हेयर स्टाइलिस्ट भी तैयार किए जाएंगे। आजाद बारबर एसोसिएशन दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष डा. मोहम्मद इमरान सलमानी एवं यमुनापार अध्यक्ष इजहार सलमानी ने बताया कि राजधानी दिल्ली के कम पढ़े-लिखे युवकों को हेयर ड्रेसिंग की बेहतर ट्रेनिंग एवं सरकारी डिप्लोमा दिलाने के लिए उन्होंने दिल्ली सरकार के तकनीकी शिक्षा निदेशालय को हेयर ड्रेसिंग का डिप्लोमा कोर्स राजधानी के सभी आईटीआई में कराए जाने का सुझाव भेजा था। इस पर तकनीकी शिक्षा निदेशालय ने मंजूरी दे दी है। नए सत्र से नए कोर्स को शुरू करने की योजना बनाई है। तकनीकी शिक्षा निदेशालय के अस्सिटेंट डायरेक्टर जुवेल कुजुर के अनुसार निदेशालय हेयर ड्रेसिंग के डिप्लोमा कोर्स को फलेक्सिबल मॉडयूलर ट्रेनिंग स्कीम के तहत इस वर्ष के नए सत्र से शुरू करेगा। यह डिप्लोमा कोर्स छह माह का होगा। इसको करने के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता 8वीं कक्षा पास होना रखी गई है। निदेशालय ने इस नए कोर्स को शुरू करने के लिए पाठयक्रम सामग्री और स्लेबस भी तैयार करा लिया है। कोर्स के दौरान छात्रों को कटिंग, मसाज, एवं अन्य कार्यो की जानकारी और हेयर ड्रेसिंग में प्रयोग की जाने वाली सभी आधुनिक तकनीकों की जानकारी हेयर विशेषज्ञों एवं कुशल प्रशिक्षकों द्वारा दी जाएगी। तीन माह का किताबी ज्ञान और बाकी के लिए ट्रेनिंग सेशन रखा गया है। इसमें कोर्स करने वाले छात्रों को नामी-गिरामी हेयर ड्रेसरों एवं हेयर स्टाइलिस्टों के पास ट्रेनिंग की व्यवस्था की जाएगी। निदेशालय ने दिल्ली में 11 नामी-गिरामी हेयर सैलून को ट्रेनिंग सेंटर के रूप में अपने साथ जोड़ा है।

2 comments:

rajiv said...

Guru hazamat me tum hath azama kar dekho :)

Pawan Kumar said...

bade bhai ye desh k honhaar naiyon k liye hai, mere jaise bekaar k liye nahi