Friday, March 11, 2011

घूंघट की आड़ में बदल दी दुल्हन

फिल्मों या धारावाहिकों में घूंघट की आड़ में दुल्हन बदलते हुए तो आपने देखा होगा, लेकिन गांधी नगर निवासी युवक के साथ ऐसा ही हो गया। उसका विवाह जिससे तय हुआ था, उसके परिजनों ने युवती की जगह उसकी 15 वर्षीय बहन से युवक का विवाह करवा दिया। यह सबकुछ हुआ घूंघट की आड़ में। अपने साथ हुए इस धोखे से आहत युवक ने कड़कड़डूमा अदालत में ससुरालियों के खिलाफ याचिका दायर कर उन पर धोखाधड़ी और बाल विवाह का मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है। अधिवक्ता प्रवीण चौधरी और सुनील वशिष्ठ ने बताया कि गांधी नगर निवासी पीडि़त युवक ने ससुर, पत्‍‌नी और साली के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कराने के लिए अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश पीएस तेजी की अदालत में याचिका दायर की है। युवक का कहना है कि उसका विवाह पश्चिमी दिल्ली स्थित गोपाल नगर निवासी एक व्यक्ति की 19 वर्षीय पुत्री से इसी वर्ष 3 फरवरी को तय हुआ था। फेरों के समय युवती की जगह उसकी छोटी 15 वर्षीय बहन को उन्होंने घूंघट कर बैठा दिया और उसी के साथ शादी करवा दी। जब वह शादी के बाद घर आया और दुल्हन का घूंघट उठाया तो उसे अपने साथ हुए इस धोखे का पता चला। उसने तुरंत ससुराल में फोन किया। उसके ससुराल वाले आए और छोटी बेटी को साथ ले गए। उन्होंने कहा कि वे घर पर बात करेंगे। 10 फरवरी को युवक परिजनों व रिश्तेदारों के साथ ससुराल गया। उसने कहा कि उन्होंने अपनी बेटी का बाल विवाह तो कराया ही, साथ में उनके साथ धोखा भी किया है। इस पर ससुराल वालों ने उसके साथ मारपीट की और उसे कहा कि वह छोटी बेटी को ही अपनी पत्‍‌नी मानते हुए उसे घर पर ले जाये। ऐसा न करने पर उन्होंने जान से मारने की धमकी दी। युवक ने छोटी बेटी का साथ ले जाने से इंकार कर दिया और मामले की शिकायत पुलिस को करते हुए ससुरालियों के खिलाफ धोखाधड़ी और बाल विवाह का मुकदमा दर्ज करने की मांग की। पुलिस ने इस संबंध में उसकी शिकायत दर्ज नहीं की। इसके चलते उसे न्याय पाने के लिए अदालत की शरण लेनी पड़ी।

-पवन कुमार

2 comments:

Udan Tashtari said...

अजब धोखाधड़ी है.

Pawan Kumar said...

aaj kal ye aam baat ho chali hai